राजस्थान में बीजेपी और कांग्रेस लगा रही है राजपूतों पर दांव, आखिर क्यों ?

जयपुर10:12 PM IST Nov 17, 2018

चाहे कंधार में आंतकियों के कब्जे में फंसे भारतीयों को छुड़वाने का मामला हो या फिर विदेश में फंसे अन्य भारतीय को निकालने का मसला. राजनीतिक मोर्चे पर ऐसे मिशन के लिए या तो जसवंत सिंह को भेजा गया या फिर वीके सिंह सिंह पर दांव लगाया है. कुछ ऐसा ही इस बार चुनावों में देखा जा रहा है. बीजेपी हो या फिर कांग्रेस दोनों ने दिग्गजों के सामने राजनीतिक मोर्चा फतह करने के लिए राजपूत प्रत्याशियों का दांव लगाया है. विधानसभा चुनावों में राजस्थान की राजनीति उबाल पर है. बीजेपी और कांग्रेस दोनों एक दूसरे को पटखनी देने के लिए नित नई बिसात बिछा रही है. ऐसा ही एक दांव शनिवार को कांग्रेस ने सीएम राजे को उनके घर में ही घेरने के लिए लगाया है. हाल ही बीजेपी का दामन छोड़कर कांग्रेस का हाथ थामने वाले बीजेपी के संस्थापक सदस्य पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र मानवेन्द्र सिंह को सीएम राजे के सामने झालरापाटन से चुनाव मैदान में उतार कर. वहीं बीजेपी ने सरदारपुरा से कांग्रेस के दिग्गज पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सामने शंभूसिंह खेतासर को उतारा है. इसके साथ ही कांग्रेस के दूसरे दिग्गज डॉ. सीपी जोशी के सामने नाथद्वारा में बीजेपी ने हाल ही में कांग्रेस का हाथ छोड़कर पार्टी में आए महेश प्रताप सिंह चुनाव मैदान में उतारा है. आखिर राजपूत प्रत्याशियों पर राजनीतिक पार्टियां क्यों लगा रही है दांव. क्या हैं इसके पीछे राजनीतिक समीकरण? देखिए ये विशेष रिपोर्ट.

news18 hindi

चाहे कंधार में आंतकियों के कब्जे में फंसे भारतीयों को छुड़वाने का मामला हो या फिर विदेश में फंसे अन्य भारतीय को निकालने का मसला. राजनीतिक मोर्चे पर ऐसे मिशन के लिए या तो जसवंत सिंह को भेजा गया या फिर वीके सिंह सिंह पर दांव लगाया है. कुछ ऐसा ही इस बार चुनावों में देखा जा रहा है. बीजेपी हो या फिर कांग्रेस दोनों ने दिग्गजों के सामने राजनीतिक मोर्चा फतह करने के लिए राजपूत प्रत्याशियों का दांव लगाया है. विधानसभा चुनावों में राजस्थान की राजनीति उबाल पर है. बीजेपी और कांग्रेस दोनों एक दूसरे को पटखनी देने के लिए नित नई बिसात बिछा रही है. ऐसा ही एक दांव शनिवार को कांग्रेस ने सीएम राजे को उनके घर में ही घेरने के लिए लगाया है. हाल ही बीजेपी का दामन छोड़कर कांग्रेस का हाथ थामने वाले बीजेपी के संस्थापक सदस्य पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र मानवेन्द्र सिंह को सीएम राजे के सामने झालरापाटन से चुनाव मैदान में उतार कर. वहीं बीजेपी ने सरदारपुरा से कांग्रेस के दिग्गज पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सामने शंभूसिंह खेतासर को उतारा है. इसके साथ ही कांग्रेस के दूसरे दिग्गज डॉ. सीपी जोशी के सामने नाथद्वारा में बीजेपी ने हाल ही में कांग्रेस का हाथ छोड़कर पार्टी में आए महेश प्रताप सिंह चुनाव मैदान में उतारा है. आखिर राजपूत प्रत्याशियों पर राजनीतिक पार्टियां क्यों लगा रही है दांव. क्या हैं इसके पीछे राजनीतिक समीकरण? देखिए ये विशेष रिपोर्ट.

Latest Live TV