HTP : क्या सीमा पर जवान के साथ बर्बरता करने वाले पाकिस्तान से बातचीत होनी चाहिए?

शो11:07 PM IST Sep 20, 2018

पाकिस्तान से बात करना बेमानी से ज़्यादा कुछ नहीं. ये बात अब तक की तमाम सरकारें मानती रही हैं. इसके बावजूद हर सरकार ने पाकिस्तान से बात करने की कोशिश की. इस बार इमरान ख़ान ने PM मोदी को ख़त लिखकर दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधारने की पहल की है. इमरान चाहते हैं कि इसी महीने न्यूयॉर्क में जब भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री मिलें तो दोनों के बीच बातचीत हो. इस न्योते के पीछे की नीयत क्या है? जब इस्लामाबाद में दोस्ती की चिट्ठी लिखी जा रही थी, पाकिस्तानी सेना BSF के जवान नरेंद्र की हत्या कर उनके शव से बर्बरता कर रही थी. क्या आतंक और बातचीत एक साथ हो सकते हैं?

प्रीति रघुनंदन

पाकिस्तान से बात करना बेमानी से ज़्यादा कुछ नहीं. ये बात अब तक की तमाम सरकारें मानती रही हैं. इसके बावजूद हर सरकार ने पाकिस्तान से बात करने की कोशिश की. इस बार इमरान ख़ान ने PM मोदी को ख़त लिखकर दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधारने की पहल की है. इमरान चाहते हैं कि इसी महीने न्यूयॉर्क में जब भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री मिलें तो दोनों के बीच बातचीत हो. इस न्योते के पीछे की नीयत क्या है? जब इस्लामाबाद में दोस्ती की चिट्ठी लिखी जा रही थी, पाकिस्तानी सेना BSF के जवान नरेंद्र की हत्या कर उनके शव से बर्बरता कर रही थी. क्या आतंक और बातचीत एक साथ हो सकते हैं?

Latest Live TV