VIDEO : शिव के दर्शन पाने रावण ने यहां अपने सिर का किया था हवन

उत्तराखंडFebruary 21, 2018, 5:46 PM IST

चमोली के बेराशकुंड में शिव मंदिर है. इसके बारे में कई मान्यताएं हैं. कहते हैं सतयुग में वशिष्ठ मुनि ने इस मंदिर की स्थापना और शिव की आराधना की. त्रेता युग में रावण ने भगवान् शिव के साक्षात दर्शन पाने के लिए यहां तपस्या की थी. जब शिव ने दर्शन नहीं दिए तो रावण ने एक-एक कर अपने 9 सिर यहां बने कुंड में हवन कर दिए. उसके बाद उसकी तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने रावण को दर्शन तीन वरदान दिए थे. मंदिर में आज भी वो कुंड मौजूद है. इस क्षेत्र को दशमोलि याने दशोली पट्टी के नाम से भी जाना जाता है.

Prabhat Purohit

चमोली के बेराशकुंड में शिव मंदिर है. इसके बारे में कई मान्यताएं हैं. कहते हैं सतयुग में वशिष्ठ मुनि ने इस मंदिर की स्थापना और शिव की आराधना की. त्रेता युग में रावण ने भगवान् शिव के साक्षात दर्शन पाने के लिए यहां तपस्या की थी. जब शिव ने दर्शन नहीं दिए तो रावण ने एक-एक कर अपने 9 सिर यहां बने कुंड में हवन कर दिए. उसके बाद उसकी तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने रावण को दर्शन तीन वरदान दिए थे. मंदिर में आज भी वो कुंड मौजूद है. इस क्षेत्र को दशमोलि याने दशोली पट्टी के नाम से भी जाना जाता है.

Latest Live TV