VIDEO: लोहाघाट में भी बसी हैं अटल जी की यादें, पैदल घूमे थे बाज़ार

उत्तराखंड01:32 PM IST Aug 17, 2018

उत्तराखण्ड राज्य का सपना पूरा करने वाले भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का उत्तराखण्ड के पहाड़ों क्षेत्रों से गहरा लगाव था. 10 नवम्बर 1981 को टनकपुर से कार में सफर तय कर अटल जी लोहाघाट पहुंचे थे. इस दौरान अटल जी स्वामी विवेकानंद लायब्रेरी भी गए थे. अटल जी ने लायब्रेरी के विजिटर रजिस्टर में स्वामी विवेकानंद को स्मरण करते हुए अपने मन की बात लिखी थी. अटल जी के साथ उस वक़्त मौजूद रहे और बाद में यूपी, उत्तराखण्ड में बीजेपी विधायक रहे. केसी पुनेठा बताते हैं कि रामलीला मैदान में जनसभा को संबोधित करने के बाद अटल जी ने पैदल लोहाघाट बाज़ार का भ्रमण किया. इसके बाद साथ वादा किया कि अगली बार लोहाघाट आऊंगा तो मायावती विवेकानंद आश्रम ज़रूर आऊंगा लेकिन ऐसा संभव नहीं हो सका.

Kamlesh Bhatt

उत्तराखण्ड राज्य का सपना पूरा करने वाले भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का उत्तराखण्ड के पहाड़ों क्षेत्रों से गहरा लगाव था. 10 नवम्बर 1981 को टनकपुर से कार में सफर तय कर अटल जी लोहाघाट पहुंचे थे. इस दौरान अटल जी स्वामी विवेकानंद लायब्रेरी भी गए थे. अटल जी ने लायब्रेरी के विजिटर रजिस्टर में स्वामी विवेकानंद को स्मरण करते हुए अपने मन की बात लिखी थी. अटल जी के साथ उस वक़्त मौजूद रहे और बाद में यूपी, उत्तराखण्ड में बीजेपी विधायक रहे. केसी पुनेठा बताते हैं कि रामलीला मैदान में जनसभा को संबोधित करने के बाद अटल जी ने पैदल लोहाघाट बाज़ार का भ्रमण किया. इसके बाद साथ वादा किया कि अगली बार लोहाघाट आऊंगा तो मायावती विवेकानंद आश्रम ज़रूर आऊंगा लेकिन ऐसा संभव नहीं हो सका.

Latest Live TV