लाइव टीवी
होम » वीडियो » उत्तराखंड

VIDEO: सीएम रावत ने किया हरिद्वार बाईपास पर फोरलेन रेलवे ओवर ब्रिज का लोकार्पण

उत्तराखंड News18 Uttarakhand| March 4, 2019, 6:21 PM IST

हरिद्वार बाईपास पर अजबपुर में वर्ष 2016 से निर्माणाधीन रेलवे ओवर ब्रिज को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को जनता को समर्पित कर दिया . आईएसबीटी को जाने वाले हरिद्वार बाईपास पर अजबपुर में बना रेलवे फाटक यातायात में एक बड़ी समस्या बना हुआ था. रेलवे फाटक के कारण अक्सर लोगों को जाम की समस्या से जूझना पड़ता था. दिसंबर 2016 में यहां पर फोर लेन रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य शुरू किया गया था. 815 मीटर लंबे पचास करोड़ की लागत से निर्मित इस फोरलेन रेलवे ओवर ब्रिज का सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लोकार्पण किया. बहुप्रतीक्षित इस ब्रिज के उद्घाटन समारोह में सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे. लोगों का कहना था कि इससे अब आईएसबीटी आने जाने वाले वाहनों को जाम से निजात मिल जाएगी. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बनकर तैयार हुए इस आरओबी को त्रिवेंद्र सरकार की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि के तौर पर देखा जा रहा है. इससे पहले बीते साल अक्टूबर में मोहक्कमपुर में भी एक किलोमीटर लंबा रेलवे ओवर ब्रिज जनता को समर्पित किया गया था. बता दें कि दोनों ही ब्रिज अपनी निर्धारित लागत से करोड़ों रुपए कम लागत पर बनकर तैयार हुए हैं.

Sunil Navprabhat
First published: March 4, 2019, 6:21 PM IST

हरिद्वार बाईपास पर अजबपुर में वर्ष 2016 से निर्माणाधीन रेलवे ओवर ब्रिज को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को जनता को समर्पित कर दिया . आईएसबीटी को जाने वाले हरिद्वार बाईपास पर अजबपुर में बना रेलवे फाटक यातायात में एक बड़ी समस्या बना हुआ था. रेलवे फाटक के कारण अक्सर लोगों को जाम की समस्या से जूझना पड़ता था. दिसंबर 2016 में यहां पर फोर लेन रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य शुरू किया गया था. 815 मीटर लंबे पचास करोड़ की लागत से निर्मित इस फोरलेन रेलवे ओवर ब्रिज का सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लोकार्पण किया. बहुप्रतीक्षित इस ब्रिज के उद्घाटन समारोह में सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे. लोगों का कहना था कि इससे अब आईएसबीटी आने जाने वाले वाहनों को जाम से निजात मिल जाएगी. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बनकर तैयार हुए इस आरओबी को त्रिवेंद्र सरकार की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि के तौर पर देखा जा रहा है. इससे पहले बीते साल अक्टूबर में मोहक्कमपुर में भी एक किलोमीटर लंबा रेलवे ओवर ब्रिज जनता को समर्पित किया गया था. बता दें कि दोनों ही ब्रिज अपनी निर्धारित लागत से करोड़ों रुपए कम लागत पर बनकर तैयार हुए हैं.

Latest Live TV