VIDEO: GVK के ख़िलाफ़ आंदोलन जारी, आमरण अनशन पर बैठी महिला

उत्तराखंड07:32 PM IST Aug 23, 2018

श्रीनगर गढ़वाल में बनी 330 मेगावाट की जलविद्युत परियोजना से प्रभावित ग्रामीणों का रामलीला मैदान कीर्तिनगर में आमरण अनशन और धरना जारी है. टिहरी जेल में बंद बांध प्रभावित ग्रामीणों की रिहाई, मुक़दमे वापसी, मुआवज़ा, रोज़गार सहित 17 मांगों को लेकर ग्रामीण आंदोलनरत हैं. प्रभावितों का आरोप है कि जायज़ मांगों को लेकर आंदोलनरत बांध प्रभावित ग्रामीणों की समस्याओं के समाधान की जगह शासन और जलविद्युत परियोजना की कार्यदाई संस्था उन पर मुकद्दमे चस्पा कर जेल में डाल रही है. बता दें कि श्रीनगर में जल विद्युत परियोजना बनाने वाली कंपनी जीवीके ने परियोजना शुरू करते समय स्थानीय लोगों को मुआवज़ा, रोज़गार, स्कूल, अस्पताल के इंतज़ाम जैसे कई वादे किए थे लेकिन ये वादे पूरे नहीं किए गए. लंबे समय से कंपनी से वादे पूरे करने की मांग कर रहे लोगों के सब्र का बांध लगातार अनदेखी से टूट गया था और इस महीने की शुरुआत में उन्होंने कंपनी के प्लांट पर धावा बोलकर पावर हाउस कोऑर्डिनेटर को बंधक बना लिया था. इसके बाद कंपनी ने एफ़आईआर करवाई तो 18 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया था. अब उन लोगों की रिहाई समेत पुरानी मांगों को लेकर पुष्पा जोशी नाम की महिला आमरण अनशन पर बैठ गई हैं.

news18 hindi

श्रीनगर गढ़वाल में बनी 330 मेगावाट की जलविद्युत परियोजना से प्रभावित ग्रामीणों का रामलीला मैदान कीर्तिनगर में आमरण अनशन और धरना जारी है. टिहरी जेल में बंद बांध प्रभावित ग्रामीणों की रिहाई, मुक़दमे वापसी, मुआवज़ा, रोज़गार सहित 17 मांगों को लेकर ग्रामीण आंदोलनरत हैं. प्रभावितों का आरोप है कि जायज़ मांगों को लेकर आंदोलनरत बांध प्रभावित ग्रामीणों की समस्याओं के समाधान की जगह शासन और जलविद्युत परियोजना की कार्यदाई संस्था उन पर मुकद्दमे चस्पा कर जेल में डाल रही है. बता दें कि श्रीनगर में जल विद्युत परियोजना बनाने वाली कंपनी जीवीके ने परियोजना शुरू करते समय स्थानीय लोगों को मुआवज़ा, रोज़गार, स्कूल, अस्पताल के इंतज़ाम जैसे कई वादे किए थे लेकिन ये वादे पूरे नहीं किए गए. लंबे समय से कंपनी से वादे पूरे करने की मांग कर रहे लोगों के सब्र का बांध लगातार अनदेखी से टूट गया था और इस महीने की शुरुआत में उन्होंने कंपनी के प्लांट पर धावा बोलकर पावर हाउस कोऑर्डिनेटर को बंधक बना लिया था. इसके बाद कंपनी ने एफ़आईआर करवाई तो 18 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया था. अब उन लोगों की रिहाई समेत पुरानी मांगों को लेकर पुष्पा जोशी नाम की महिला आमरण अनशन पर बैठ गई हैं.

Latest Live TV