होम » वीडियो » उत्तराखंड

VIDEO: लोककलाओं को सहेजने में आगे है कुमाऊं

उत्तराखंडOctober 17, 2017, 2:59 PM IST

लोककलाओं को सहेजने में कुमाऊं वासियों का कोई सानी नहीं है. यही वजह है कि यहां के लोगों ने सदियों पुरानी लोककलाओं को आज भी जिंदा रखा है. ऐसी ही एक कला है ऐपण, जिसका उपयोग कुमाऊं में प्रत्येक शुभ कार्य में पूरी धार्मिक आस्था के साथ किया जाता है. ऐपण यानि अल्पना एक ऐसी लोककला जिसका इस्तेमाल कुमाऊं में सदियों से जारी है. यहां ऐपण कलात्मक अभिव्यक्ति का भी प्रतीक है. इस लोककला को अलग-अलग धार्मिक अवसरों के मुताबिक चित्रित किया जाता है. शादी, जनेऊ, नामकरण और त्योहारों के अवसर पर हर घर इसी लोककला से सजाया जाता है. देखने में भले ही ये आसान से नजर आते हों, लेकिन इन्हें बनाने में ग्रहों स्थिति और धार्मिक अनुष्ठानों का खास ध्यान रखा जाता है.

Vijay Vardhan

लोककलाओं को सहेजने में कुमाऊं वासियों का कोई सानी नहीं है. यही वजह है कि यहां के लोगों ने सदियों पुरानी लोककलाओं को आज भी जिंदा रखा है. ऐसी ही एक कला है ऐपण, जिसका उपयोग कुमाऊं में प्रत्येक शुभ कार्य में पूरी धार्मिक आस्था के साथ किया जाता है. ऐपण यानि अल्पना एक ऐसी लोककला जिसका इस्तेमाल कुमाऊं में सदियों से जारी है. यहां ऐपण कलात्मक अभिव्यक्ति का भी प्रतीक है. इस लोककला को अलग-अलग धार्मिक अवसरों के मुताबिक चित्रित किया जाता है. शादी, जनेऊ, नामकरण और त्योहारों के अवसर पर हर घर इसी लोककला से सजाया जाता है. देखने में भले ही ये आसान से नजर आते हों, लेकिन इन्हें बनाने में ग्रहों स्थिति और धार्मिक अनुष्ठानों का खास ध्यान रखा जाता है.

Latest Live TV