VIDEO: ऑल वेदर रोड के डंपिंग ज़ोन में पड़ी दरारें, हज़ारों लोगों पर खतरा

उत्तराखंड07:30 PM IST Aug 20, 2018

तीर्थनगरी ऋषिकेश के ढालवाला क्षेत्र में बसी करीब 50 हज़ार की आबादी के लिए ऑल वेदर रोड के डपिंग जोन से बरसात में खतरा उत्पन्न हो गया है. यहां से ऑल वेदर रोड पहाड़ों के लिए शुरू होती है. स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बावजूद ढालवाला आबादी क्षेत्र के ठीक ऊपर नरेन्द्रनगर की खड़ी पहाड़ियों में वन विभाग ने 4 डंपिंग ज़ोन स्वीकृत कर दिए हैं. सड़क निर्माण कर रही कंपनी ने मलबा डालते समय डम्पिंग ज़ोन के किनारे मलबा रोकने के लिए साइड वॉल तक नही बनाई. ऐसे मे मलबे का लोड अब इतना ज़्यादा हो चुका है कि कुछ दिनों की बारिश से ही इसमें बड़ी-बड़ी दरारें पड़ चुकी हैं. बारिश के समय आगराखाल से लेकर भद्रकाली तक की सभी पहाड़ियों का पानी चन्द्रभागा नदी में ही आता है. भारी बारिश की स्थिति में इन डंपिंग ज़ोनों के मलबे की पहाड़ियों और जंगलों के रास्ते सीधे ढालवाला या फिर चन्द्रभागा नदी के रास्ते ढालवाला तक पहुंचने की आशंका है. दोनों स्थितियों में ढालवाला क्षेत्र में कहर बरप जाएगा.

Shailendra

तीर्थनगरी ऋषिकेश के ढालवाला क्षेत्र में बसी करीब 50 हज़ार की आबादी के लिए ऑल वेदर रोड के डपिंग जोन से बरसात में खतरा उत्पन्न हो गया है. यहां से ऑल वेदर रोड पहाड़ों के लिए शुरू होती है. स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बावजूद ढालवाला आबादी क्षेत्र के ठीक ऊपर नरेन्द्रनगर की खड़ी पहाड़ियों में वन विभाग ने 4 डंपिंग ज़ोन स्वीकृत कर दिए हैं. सड़क निर्माण कर रही कंपनी ने मलबा डालते समय डम्पिंग ज़ोन के किनारे मलबा रोकने के लिए साइड वॉल तक नही बनाई. ऐसे मे मलबे का लोड अब इतना ज़्यादा हो चुका है कि कुछ दिनों की बारिश से ही इसमें बड़ी-बड़ी दरारें पड़ चुकी हैं. बारिश के समय आगराखाल से लेकर भद्रकाली तक की सभी पहाड़ियों का पानी चन्द्रभागा नदी में ही आता है. भारी बारिश की स्थिति में इन डंपिंग ज़ोनों के मलबे की पहाड़ियों और जंगलों के रास्ते सीधे ढालवाला या फिर चन्द्रभागा नदी के रास्ते ढालवाला तक पहुंचने की आशंका है. दोनों स्थितियों में ढालवाला क्षेत्र में कहर बरप जाएगा.

Latest Live TV