लाइव टीवी
Elec-widget
होम » वीडियो » उत्तराखंड

VIDEO: बगल में टिहरी झील और पानी के लिए ग्रामीण चल रहे मीलों पैदल

उत्तराखंड ETV UP/Uttarakhand| January 22, 2018, 2:21 PM IST

एशिया की सबसे बड़ी झीलों में शुमार टिहरी झील स्थानीय लोगों की प्यास नहीं बुझा पा रही है. टिहरी झील से सटे जाखणीधार क्षेत्र के कई गांवों के ग्रामीणों को दो बूंद पीने के पानी के लिए आज भी प्राकृतिक स्त्रोतों पर निर्भर रहना पड़ता है. कुमारधार,गेंवली, पिपोला, भटकंडा और नवाकोट सहित डेढ़ दर्जन गांवों के ग्रामीण करीब 6 मील पैदल दूरी तय कर पीने के पानी का इंतजाम करते हैं. जाखणीधार क्षेत्र के लिए बनाई गई कोश्यारताल पेयजल पम्पिंग योजना कई वर्षों बाद भी शुरू नहीं हो पाई है, जिस कारण लोगों के सामने पानी का संकट बरकरार है. स्थानीय लोगों का कहना है कि पेयजल योजना का पैसा अन्य जगह लगाया जा रहा है.

news18 hindi
First published: January 22, 2018, 2:21 PM IST

एशिया की सबसे बड़ी झीलों में शुमार टिहरी झील स्थानीय लोगों की प्यास नहीं बुझा पा रही है. टिहरी झील से सटे जाखणीधार क्षेत्र के कई गांवों के ग्रामीणों को दो बूंद पीने के पानी के लिए आज भी प्राकृतिक स्त्रोतों पर निर्भर रहना पड़ता है. कुमारधार,गेंवली, पिपोला, भटकंडा और नवाकोट सहित डेढ़ दर्जन गांवों के ग्रामीण करीब 6 मील पैदल दूरी तय कर पीने के पानी का इंतजाम करते हैं. जाखणीधार क्षेत्र के लिए बनाई गई कोश्यारताल पेयजल पम्पिंग योजना कई वर्षों बाद भी शुरू नहीं हो पाई है, जिस कारण लोगों के सामने पानी का संकट बरकरार है. स्थानीय लोगों का कहना है कि पेयजल योजना का पैसा अन्य जगह लगाया जा रहा है.

Latest Live TV