होम » वीडियो » उत्तराखंड

VIDEO: 54 वर्षों में NIM ने दिए एक से बढ़कर एक पर्वतारोही

उत्‍तरकाशी News18 Uttarakhand| November 14, 2018, 9:14 PM IST

उत्तरकाशी स्थित नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम या NIM) ने आज अपना 54 वां स्थापना दिवस मनाया. इस कालखंड में निम ने देश-दुनिया को दर्जनों नामचीन पर्वतारोही देने के साथ ही कई उपलब्धियां भी अपने नाम की है. 2013 की आपदा के दौरान रेस्क्यू कार्य और केदारपुरी का पुनर्निर्माण भी उसकी उपलब्धियों में दर्ज है. वहीं भारतीय महिला एवरेस्टर बछेंद्री पाल, संतोष यादव, हर्षवंती बिष्ट, अर्जुन वाजपेयी, कृष्णा पाटिल, सुमन कुटियाल, सरला नेगी, अरुणिमा सिन्हा, जुड़वां बहनें नुंग्शी व ताशी के साथ हाल ही में 18 साल की पूनम राणा जैसी होनहार लड़की ने भी नेहरू पर्वतारोहण संस्थान उत्तरकाशी से प्रशिक्षण लेकर एवरेस्ट फतह किया है. निम के प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट ने कहा कि जिस उद्देश्य को लेकर संस्थान की स्थापना की गई थी, उस दिशा में संस्थान पूरे मनोयोग से आगे बढ़ रहा है. अब पर्वतारोहण एक एडवेंचर स्पोर्ट्स बन चुका है. इसलिए निम को इसका केंद्र बनाया जाएगा. 2020 में प्रस्तावित नेशनल स्पोर्ट्स निम में हो, इसके लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. (उत्तरकाशी से जगमोहन सिंह की रिपोर्ट)

News18 Hindi
First published: November 14, 2018, 9:14 PM IST
Latest Live TV

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज