वो देश जो पेट्रोल-डीजल को कह रहे हैं टा-टा

आइसलैंड केवल 10 फीसदी फॉसिल ईंधन पर निर्भर है.

आइसलैंड जियोथर्मल और हाइड्रोकार्बन पर निर्भर है.

इस मामले में वो दुनिया में
पहले नंबर पर है.

एशियाई देश ताजिकिस्तान भी फॉसिल ईंधन से परे हो चुका है.

वो 64 फीसदी रेनेबल एनर्जी इस्तेमाल करता है.

ताजिकिस्तान ऐसा करने वाला दूसरे नंबर का देश है.

स्वीडन कोयले का इस्तेमाल बिल्कुल बंद कर चुका है.

स्वीडन अपनी ज्यादा एनर्जी बायोमास से पैदा करता है.

फ्रांस ने पेट्रोल-डीजल की खपत 50 फीसदी कम कर ली .

और स्टोरीज पढ़ने के
लिए यहां क्लिक करें

क्लिक