इस देश में हुआ पटाखों का आविष्कार

आतिशबाजी और पटाखे बारूद से चलते हैं.

बारूद काले रंग का विस्फोटक रासायनिक मिश्रण है.

इसका आविष्कार कब हुआ ये कह पाना तो मुश्किल है.

इतिहास कहता है चीन में ये जानकारी ईसा पूर्व से थी.

बारूद गंधक, कोयला और पोटैशियम नाइट्रेट (शोरा) को पीसकर बनाते हैं.

चीन में पटाखे बुरी शक्तियों को भगाने के लिए नए साल पर इस्तेमाल होते थे.

चीन पटाखों का सबसे बड़ा उत्पादक देश है.

भारत में दीपांकर नाम के बौद्ध धर्मगुरु ने 12वीं सदी में इसे प्रचलित किया.

वो चीन, तिब्बत और पूर्व एशिया से पटाखे चलाना सीखकर आए थे.

और स्टोरीज पढ़ने के
लिए यहां क्लिक करें

क्लिक