राग दीपक से
क्यों तानसेन का शरीर
जलने लगा

कहा जाता है कि राग दीपक गाने
से दीये जल उठते हैं.

दीपक राग गाने से इतनी उष्मा निकलती
है कि दीये को जला देती है.

लेकिन इस राग से गायक के शरीर में
भी गर्मी पैदा हो जाती है.

दीपक राग को दीपावली की रात दूसरे पहर में गाते थे.सबसे पहले ये राग भगवान शिव के मुख से निकला.

संगीत सम्राट तानसेन इसके
सिद्धहस्त गायक थे.

दीपक राग गाने से तानसेन
बुरी तरह फंसे भी थे.

इससे उनके शरीर में भयंकर
गर्मी पैदा हो गई.

कहते हैं कि उनके शरीर से
चिंगारियां निकलने लगीं.

तब उनकी बेटी ने मल्हार राग
से शरीर की गर्मी शांत की.

और स्टोरीज पढ़ने के
लिए यहां क्लिक करें

क्लिक