ग्रीन पटाखे दूसरे पटाखों से इस वजह से होते हैं अलग

दिवाली पर अब ग्रीन पटाखे भी होने लगे हैं उपलब्ध.

 ग्रीन पटाखे दिखने, जलाने और आवाज में सामान्य पटाखों जैसे.

आम पटाखों की तुलना में इनके शेल का आकार होता है कम.

 कम प्रदूषण फैलाने वाले कच्चे माल से बनते हैं ग्रीन पटाखे.

 ग्रीन पटाखों में सॉल्ट, लिथियम, लेड जैसे कंपाउंड नहीं होते हैं.

इन पटाखों से खतरनाक कणों का उत्सर्जन कम होता है.

सामान्य पटाखों से ग्रीन पटाखों की आवाज कम होती है.

इनसे अधिकतम 110 से 125 डेसिबल ध्वनि प्रदूषण होता है.

 यह आम पटाखों की तुलना में ज्यादा महंगे होते हैं.

और स्टोरीज पढ़ने के
लिए यहां क्लिक करें

क्लिक