इस महिला ने Quinoa Farming से कमाए लाखो 

जामनगर के एक छोटे से गांव की 10वीं पास महिला जिनका नाम पायलबेन है. अपनी मेहनत और लगन से आज कृषि के क्षेत्र में सफलता पाई. 

आपको बता दें कि पायलबेन ने अमेरिकी सुपरफूड की खेती शुरू की थी.

 शुरुआत में पाइलेबेन को खेती में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा.

पायलबेन को मिट्टी, बारिश और बीज जैसी कई गंभीर चुनौतियों का सामना करना पड़ा.

लेकिन पायल ने हाल नहीं मानी और अपनी कड़ी मेहनत के बल पर उन्हें तीन साल बाद सफलता मिली.

पाइलबैन ने 2020 में क्विनोआ को एक खतरे के रूप में उगाने की कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता 2022 में मिली.

पायलबेन पिछले कुछ समय से आत्मा प्रोजेक्ट और कृषि विज्ञान केंद्र से जुड़ी हुई हैं .

जामनगर जिले के लालपुर तालुक के नानरवा गांव के अर्बलुस में रहने वाली पायलबेन केवल 10वीं पास हैं.

पायलबेन ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से सफलता प्राप्त की है.

केसरिया बालम ककड़ी ने देशभर में मचाई धूम