करियर शुरू होने के 2 साल बाद लगी गोली, फिर भी कहलाए ‘सूरमा’

संदीप सिंह भारतीय हॉकी टीम के कप्तान रहे हैं.

उन्होंने 2004 में पहला इंटरनेशनल मैच खेला.

2006 में ट्रेन से सफर के दौरान पांव में गोली लगी.

जब गोली लगी, तब वे नेशनल टीम से जुड़ने जा रहे थे.

गोली लगने से संदीप पैरालाइज हो गए और व्‍हीलचेयर पर रहे.

उन्होंने 2 साल बाद वापसी की और 2009 में कप्तान बने.

भारत ने संदीप की कप्‍तानी में अजलान शाह कप जीता था.

 संदीप दुनिया के बेहतरीन ड्रैग फ्लिकर में से एक रहे हैं.

 संदीप सिंह की जिंदगी पर 'सूरमा' फिल्म बन चुकी है.

और स्टोरीज पढ़ने के
लिए यहां क्लिक करें

क्लिक