पद्मश्री रानी रामपाल:
जिद की मिसाल बनकर जीता ‘खेल रत्न’

रानी रामपाल भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान हैं.

हाल ही में उन्हें खेल रत्‍न
और पद्मश्री अवॉर्ड दिया गया.

रानी की कप्तानी में भारतीय हॉकी नई ऊंचाइयां छू रही है.

महिला टीम ने ओलंपिक में टॉप-4
में फिनिश किया था.

रानी रामपाल का बचपन आर्थिक तंगियों से लड़ते हुए बीता.

वह दूध में पानी मिलाकर ट्रेनिंग पर
ले जाती थीं.

महज 6 साल की उम्र में जागी थी
हॉकी में दिलचस्‍पी.

रानी ने 15 साल की उम्र में भारत के लिए डेब्‍यू किया.

2009 में रानी को ‘द यंगेस्ट प्लेयर’ घोषित किया गया.

और स्टोरीज पढ़ने के
लिए यहां क्लिक करें

क्लिक