डेडपूल
3.5/5
पर्दे पर : 18 मई 2018
डायरेक्टर : टिम मिलर
संगीत : टॉम हुल्केनबर्ग
कलाकार : रयान रेनॉल्ड्स, मोरेना बकरीन, टी.जे.मिलर
शैली : एक्शन, एडवेंचर, कॉमेडी
यूजर रेटिंग :
0/5
Rate this movie

Deadpool Movie Review : हिंदी दर्शकों को पसंद आएगा बड़बोला डेडपूल

डेडपूल अपनी कमियों पर, फिल्म के निर्माताओं पर तंज़ कसता रहता है. फिल्म में वन लाइनर्स की भरमार है और अगर आपको अंग्रेज़ी ह्यूमर पसंद है तो आपको इसमें मज़ा आएगा.

News18Hindi
Updated: May 17, 2018, 12:40 PM IST
Deadpool Movie Review : हिंदी दर्शकों को पसंद आएगा बड़बोला डेडपूल
डेडपूल फिल्म का एक सीन.
News18Hindi
Updated: May 17, 2018, 12:40 PM IST
विवेक शाह


साल 2016 में जब मार्वल स्टूडियो ने डेडपूल को एक अलग हीरो की तरह से लॉन्च करने का फैसला किया तो उस समय मार्वल स्टूडियो के ही कई लोगों ने इसका विरोध किया. एक्स मैन फिल्मों के एक विलेन डेडपूल को सबसे पहले वोल्वरीन के साथ लड़ते हुए दिखाया गया. लेकिन इस कैरेक्टर को बाद में एक अलग हीरो की तरह जगह दे दी गई. क्योंकि यह एक प्रयोग था तो ऐसे में फिल्म का बजट कम रखा गया और फिल्म बना दी गई.



ये एक तरह का जुआ था जो हिट हो गया.  असल प्लानिंग के हिसाब से डेडपूल और वोल्वरीन की एकसाथ एक फिल्म रिलीज़ होनी थी. लेकिन अब वो फिल्म कहीं पीछे है और डेडपूल का सीक्वल लॉन्च कर दिया गया है.


बड़बोला और खराब भाषा का इस्तेमाल करने वाला वेड विल्सन यानि डेडपूल एक भाड़े का हत्यारा है और वो एक माफिया से पैसे लेकर दूसरे माफिया को खत्म करता है. इस काम में उसकी सुपरपॉवर यानि कमाल की तलवारबाज़ी और किसी भी कट चुके अंग को दोबारा उगा लेने की क्षमता मदद करती है.


इस फिल्म में डेडपूल अपने साथ भाड़े पर काम करने वाली एक म्यूटेंट टीम को लेकर आया है जिनका लक्ष्य है एक म्यूटेंट बच्चे की रक्षा. इस बच्चे के पीछे टाइम ट्रैवल कर सकने वाला म्यूटेंट केबल पड़ा है और केबल और डेडपूल के बीच इस बच्चे को बचाने की जंग है. इस बच्चे को बचाना क्योें ज़रुरी है, यही फिल्म का सस्पेंस है.


रायन रेनॉल्ड्स ने डेडपूल 1 में कमाल का अभिनय किया था और वो इस बार भी जबर्दस्त काम कर रहे हैं. निर्देशक डेविड लीच ने इस फिल्म में पहले से ज्यादा जोक्स, पहले से ज्यादा म्यूटेंट और पहले से ज्यादा सुपरहीरोज़ रखे हैं. ज़ाहिर है फिल्म का बजट पहले से ज्यादा है.


फिल्म की कहानी दिलचस्प है और इस फिल्म को एक मतलब प्रदान करती है. पिछली फिल्म की तरह इस बार भी वेड विल्सन हर दृश्य में छा जाते हैं और इस बार वो अपने से कई गुना शक्तिशाली म्यूटेंट्स से भिड़ रहे हैं जो पर्दे पर देखना लाजवाब लगता है.


फिल्म के ग्राफिक्स और वीएफएक्स बेजोड़ हैं और कहीं भी बनावटी नहीं लगते. इस कहानी में डेविड लीच ने डेडपूल के किरदार को विस्तार की जगह दे दी है और यही बात इस फिल्म को खास बनाती है. मार्वल फिल्मों की खासियत है कि वो एक दूसरे से जुड़ी होती हैं और इस बार इस फिल्म में उस जुड़ाव का ध्यान रखा गया है.


डेडपूल अपनी कमियों पर, फिल्म के निर्माताओं पर तंज़ कसता रहता है. फिल्म में वन लाइनर्स की भरमार है और अगर आपको अंग्रेज़ी ह्यूमर पसंद है तो आपको इसमें मज़ा आएगा. फिल्म के हिंदी डब में रणवीर सिंह ने आवाज़ दी है और उनका अंदाज़ रायन रेनॉल्डस से मिलता भी है लेकिन इस फिल्म के असली मज़े आपको इंग्लिश ऑडियो में ही आएंगे.


हालांकि अवेंजर्स फिल्मों के आसपास रिलीज़ हुई हर सुपरहीरो फिल्म को नुकसान उठाना पड़ता है और शायद डेडपूल 2 को भी इस सुपरहीरो ओवरडोज़ का खामियाजा भुगतना पड़े लेकिन अगर आप हॉलीवुड के फैन हैं तो ये फिल्म आपके लिए है.


डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
3/5
स्क्रिनप्ल :
3/5
डायरेक्शन :
3/5
संगीत :
3.5/5
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर