Home /News /haryana /

हरियाणा के 4 जिलों में स्कूल फिर से बंद, प्रदूषण के चलते 14 जिलों में निर्माण कार्यों पर लगाया बैन

हरियाणा के 4 जिलों में स्कूल फिर से बंद, प्रदूषण के चलते 14 जिलों में निर्माण कार्यों पर लगाया बैन

दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के चलते NCR से सटे 4 जिलों में स्कूलों को फिर से बंद करने का निर्णय लिया गया है.

दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के चलते NCR से सटे 4 जिलों में स्कूलों को फिर से बंद करने का निर्णय लिया गया है.

NCR Air Pollution Crisis: हरियाणा सरकार ने एयर पॉल्यूशन में सुधार होने तक NCR में आने वाले 14 जिलों में सभी तरह के डीजल जनरेटर सेट चलाने पर भी रोक लगा दी है. इसमें वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) की ओर से छूट दी गई और आपातकालीन गतिविधियों (Emergency Activities) पर यह आदेश लागू नहीं होंगे. हालांकि प्लंबिंग, इंटीरियर डेकोरेशन, बिजली फिटिंग और बढ़ईगीरी जैसे बिना प्रदूषण वाले काम पर यह रोक लागू नहीं होगी. इसके अलावा NCR और आसपास के क्षेत्र के लिए वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) की ओर से जिन गतिविधियों को चालू रखने की अनुमति दी गई है, उस पर भी यह आदेश लागू नहीं होंगे​​​​​.

अधिक पढ़ें ...

    गुरुग्राम. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) से सटे हरियाणा के 4 जिलों- सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद और झज्जर में बढ़ते प्रदूषण (Air Pollution in NCR) की वजह से हालात खराब होते जा रहे हैं. ऐसे में पर्यावरण विभाग ने अगले आदेश तक इन चारों जिलों में सारे स्कूल बंद (School Closed To four District) करने का फैसला किया है.

    इन जिलों में सभी प्राइवेट और सरकारी स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे. सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में आने वाले इन चारों जिलों में 14 नवंबर को भी स्कूल बंद करवाए थे, जिन्हें 5 दिन पहले ही दोबारा खोला गया था. पर्यावरण विभाग ने स्कूलों के अलावा हरियाणा के 22 में से 14 जिलों में सभी तरह के निर्माण कार्यों पर भी रोक लगा दी है.

    Haryana News Haryana News in Hindi Haryana news live Haryana Samachar haryana news today in english haryana news youtube Haryana

    हरियाणा सरकार ने 4 जिलों में स्कूल बंद करने के साथ ही 14 जिलों में निर्माण गतिविधियों पर रोक लगा दी है.

    दरअसल राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली और उससे लगते हरियाणा, उत्तरप्रदेश और राजस्थान के इलाकों में स्मॉग और एयर पॉल्यूशन की वजह से हालात बेहद खराब हो चुके हैं. बढ़ती ठंड के बीच हवा खराब होने से सांस लेना भी मुश्किल हो चुका है. सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद हालात सुधर नहीं रहे. सुप्रीम कोर्ट ने 2 दिसंबर को ही स्कूल खोलने पर दिल्ली सरकार को फटकार लगाई थी. दिल्ली में पॉल्यूशन की वजह से बिगड़ते हालात पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के दौरान हरियाणा और यूपी सरकार भी पक्षकार बनाई गई हैं.

    इसलिए शनिवार से लागू होंगे नए आदेश

    हालांकि पर्यावरण विभाग ने स्कूल बंद करने के आदेश 2 दिसंबर को ही जारी कर दिए थे, मगर शुक्रवार 3 दिसंबर की सुबह जब तक ये आदेश इन जिलों में पहुंचे, तब तक बच्चे स्कूल जा चुके थे. ऐसे में इन आदेशों को अब शनिवार 4 दिसंबर से लागू किया जाएगा. हालांकि सरकारी आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया गया कि इन चारों जिलों में ऑनलाइन स्टडी को लेकर क्या रहेगा, लेकिन अगर ऑफ लाइन पढ़ाई नहीं होगी तो ऑनलाइन मोड पर पढ़ाई जारी रहेगी.

    डीजल जनरेटर चलाने पर भी रोक

    हरियाणा सरकार ने एयर पॉल्यूशन में सुधार होने तक एनसीआर में आते 14 जिलों में सभी तरह के डीजल जनरेटर सेट चलाने पर भी रोक लगा दी है। इसमें वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) की ओर से छूट दी गई। आपातकालीन गतिविधियों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।

    इन 14 जिलों में एयर क्वालिटी सुधारने के आदेश

    सुप्रीम कोर्ट के रुख को देखते हुए हरियाणा सरकार के पर्यावरण एवं मौसम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (ACS) ने 2 दिसंबर को ही प्रदेश के NCR में आते 14 जिलों में एयर क्वालिटी सुधारने के लिए तीन अलग-अलग आदेश जारी कर दिए. संबंधित जिलों के डीसी और अन्य अधिकारियों को इन निर्देशों को सख्ती से लागू करने के लिए कहा गया है.

    14 जिलों में निर्माण कार्यों पर रोक

    NCR में हरियाणा के 14 जिले आते हैं. इनमें सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, रोहतक, झज्जर, भिवानी, जींद, पानीपत, करनाल, मेवात, रेवाड़ी, भिवानी और महेंद्रगढ़ शामिल है. हरियाणा सरकार के आदेश के मुताबिक इन 14 जिलों में सभी तरह की निर्माण गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा.

    Tags: Air pollution, Air Pollution AQI Level, Delhi air pollution, Delhi-NCR News, NCR Air Pollution

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर