फिम्स अस्पताल पर लगे आरोप, पैसों के लिए ले ली मरीज की जान

सोनीपत के फिम्स अस्पताल का लगातार दूसरा कारनामा सामने आया है. दरअसल गन्नौर निवासी संजय को अक्टूबर माह में बुखार की शिकायत के चलते फिम्स अस्पताल में दाखिल करवाया गया था.

Nitin Antil | ETV Haryana/HP
Updated: January 12, 2018, 11:45 AM IST
फिम्स अस्पताल पर लगे आरोप, पैसों के लिए ले ली मरीज की जान
सोनीपत के फिम्स अस्पताल पर लगे आरोप
Nitin Antil | ETV Haryana/HP
Updated: January 12, 2018, 11:45 AM IST
सोनीपत के फिम्स अस्पताल का लगातार दूसरा कारनामा सामने आया है. दरअसल गन्नौर निवासी संजय को अक्टूबर माह में बुखार की शिकायत के चलते फिम्स अस्पताल में दाखिल करवाया गया था. परिजनों के अनुसार संजय ठीक था और उन्होंने डॉक्टरों को छुट्टी देने की बात कही तो डॉक्टरों ने उसे एक इंजेक्शन लगाया गया था जिसके बाद उसका रियेक्शन हो गया और उसके पूरे शरीर में बड़े-बड़े दाग हो गए और फिर आईसीयू में उसकी मौत हो गई.

परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस को दी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई तो अब अब इस मामले की शिकायत सीएम विंडो में दी गई है और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सीनियर डॉक्टरों का एक बोर्ड बना दिया है जो इस मामले की गंभीरता से जांच करेगा और जल्द से जल्द रिर्पोट देगा.

संजय के भाई राजीव ने बताया कि बीती 9 अक्टूबर को उन्होंने संजय को सोनीपत के फिम्स अस्पताल के भर्ती करवाया था तब उसे महज बुखार था. फिर उसके टेस्ट किये गए तो उसकी प्लेटलेट्स कम पाए. इलाज के बाद उसके प्लेटलेट्स सही हो गए जिसके बाद हमने छुट्टी की बात कही. डॉक्टरों ने कहा कि अभी वो ठीक नहीं हुआ है और एक इंजेक्शन लगाया जिसके बाद उसे रियेक्शन हुआ और आईसीयू में उसकी मौत हो गई.

परिजनों का आऱोप है कि महज पैसों के लिए डॉक्टरों ने ऐसा किया क्योंकि हमारा मेडिकल बीमा था जिसके बाद वो और बिल बढ़ाना चाहते थे. वहीं मृतक की बेटी ने कहा कि सरकार इसमें जांच करे और दोषी डॉक्टर राजपाल जैन, अनिल जैन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करे ताकि कोई और शिकार न हो.

वहीं इस बारे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी का कहना है कि सीएम विंडो के जरिए एक शिकायत मिली है जिसमें राजीव ने शिकायत दी है और बताया है कि उसके भाई को इलाज के लिए फिम्स अस्पातल में भर्ती करवाया था और इलाज के दौरन उसकी मौत हुई है. वही सीएमओ ने भी माना है कि इलाज अच्छे से करना चाहिए. एक बोर्ड बना दिया गया है जल्द ही मामले की जांच रिर्पोट तैयार कर दी जाएगी.
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Haryana News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर