किन्नौर: प्रकृति का खूबसूरत नमूना है हिमाचल प्रदेश का ये जिला
Reckong-Peo News in Hindi

किन्नौर: प्रकृति का खूबसूरत नमूना है हिमाचल प्रदेश का ये जिला
हिमाचल का किन्नौर जिला बेहद ही खूबसूरत है. (Photo: Facebook)

1960 तक वर्तमान किन्नौर जिला, महासू जिला की मिनी तहसील बना. 21 अप्रैल, 1960 को किन्नौर हिमाचल प्रदेश का छठा जिला बना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 10:18 AM IST
  • Share this:
किन्नौर. हिमाचल प्रदेश का किन्नौर (Kinnaur) जिला बहुत ही सुंदर है. ये हिमाचल प्रदेश के पूर्वोत्तर के कोने में स्थित हैं तथा पूर्व में तिब्बत से घिरा हुआ है. यहां ज़ांस्कर, ग्रेटर हिमालय और धौलाधार यहां के तीन ऊंचे पर्वत हैं. सतलुज (Satluj) किन्नौर की मुख्य नदी है और स्पीति, बसपा इसकी सहायक नदियों हैं. यहां की सभी घाटियां बहुत खूबसूरत हैं. घाटी घने जंगलों, बागों, खेतों और खूबसूरत गांवों से ढकी हुई है. किन्नर कैलाश पर्वत के शिखर पर धार्मिक शिवलिंग स्थित है.

कब हुआ जिले का गठन

किन्नौर का 21 अप्रैल,1960 को जिले के रूप में गठन हुआ. यहां का जिला मुख्यालय रिकांगपिओ है. किनौर का कुल क्षेत्रफल 6401 वर्ग किलोमीटर है.  किन्नौर के पूर्व में तिब्बत, दक्षिण में उत्तराखंड, पश्चिम में कुल्लू, दक्षिण और दक्षिण पश्चिम में शिमला तथा उत्तर पशचिम  में लाहौल स्पीति जिले स्थित है .



किन्नौर का इतिहास
किन्नौर राज्य रामपुर बुशहर रियासत का एक अंग था. यहां पर बहुपति प्रथा पाई जाती है. यहां के प्रसिद्ध राजा थे—प्रतमपाल, चतरसिंह तथा केहरी सिंह, जिसे ‘अजान बाहु’ नाम से भी जाना जाता था. 13 नवम्बर 1914 को बुशहर रियासत का अंतिम शासक राजा पद्मसिंह गद्दी का बैठा तथा उसने 1947 तक शासन किया. सन् 1948 में बुशहर राज्य केंद्र शासित चीफ कमीश्नर क्षेत्र हिमाचल प्रदेश का हिस्सा बना. 1960 तक वर्तमान किन्नौर जिला, महासू जिला की मिनी तहसील बना. 21 अप्रैल, 1960 को किन्नौर हिमाचल प्रदेश का छठा जिला बना.

प्रमुख पर्यटन स्थल

नाको किन्नौर का प्रमुख गांव है जो अपनी आकर्षक झील के लिए पर्यटकों के बीच खासा लोकप्रिय है. इस झील का पानी सर्दियों में जम जाता है जिसपर स्केटिंग का अलग ही आनंद होता है. सांगला. अगर किन्नौर के सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों की बात की जाए तो सांगला सबसे ऊपर आएगा. सांगला में बेरिंग नाग का मंदिर और बौध्द मठ दर्शनीय है. कामरू किन्नौर का एक बेहद पुराना गांव है. जो कभी किन्नौर की राजधानी हुआ करता था. इसी के पास कामरू का किला भी दर्शनीय है. कल्पा किन्नौर का बेहद खूबसूरत दर्शनीय स्थल है जिसकी खूबसूरती देख आप एक पल के लिए भी पलों का झपकना गवारा नहीं करेंगे.

प्रसिद्ध सामान और फल

किन्नौर जिला अपने हैंडलूम और हस्तशिल्प के सामानों के लिए प्रसिद्ध है. यहां से शॉल, टोपियां, मफलर, लकड़ी की मूर्तियां और धातुओं से बना बहुत-सा सामान खरीदा जा सकता है. इसके अतिरिक्त किन्नौर फलों और ड्राई फूडस के उत्पादन के लिए भी बहुत जाना जाता है. सेब, बादाम, चिलगोजा, ओगला, अंगूर और अखरोट आदि भी यहां से खरीदे जा सकते हैं.

कैसे पहुंचे किन्नौर

किन्नौर का निकटतम शिमला हवाई अड्डा है, जो किन्नौर जिले के मुख्य गांव् कल्पा, से 267 किमी की दूरी पर स्थित है. शिमला हवाई अड्डा सीधे तरह से भारत के प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली और कुल्लू के साथ जुड़ा हुआ है. यात्री हवाई अड्डे से आसानी से टैक्सियां और कैब लेकर किन्नौर तक जा सकते हैं. रेल मार्ग- किन्नौर के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन शिमला रेलवे स्टेशन है, जो 244 किमी के आसपास की दूरी पर स्थित है. यह एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है और अच्छी तरह से नई दिल्ली और मुंबई जैसे महत्वपूर्ण भारतीय शहरों से जुड़ा है. यात्री रेलवे स्टेशन के बाहर से टैक्सियो और कैबों को किन्नौर तक पहुँचने के लिए किराये पर ले सकते हैं. यात्री शिमला और रामपुर जैसे पास के स्थानों से किन्नौर के लिए बसों को ले सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज