होम /न्यूज /जीवन शैली /

International Women's Day 2022: इन 3 रंगों से है अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का खास नाता

International Women's Day 2022: इन 3 रंगों से है अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का खास नाता

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस हर साल 08 मार्च को सेलिब्रेट किया जाता है.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस हर साल 08 मार्च को सेलिब्रेट किया जाता है.

International Women's Day 2022: अंतराराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day) हर साल 8 मार्च को सेलिब्रेट किया जाता है. महिला सशक्तिकरण का संदेश देता ये खास दिन 3 विशेष रंगों से भी प्रदर्शित किया जाता है. आइए जानते हैं कौन से हैं ये रंग और ये क्या संदेश देते हैं.

अधिक पढ़ें ...

International Women’s Day 2022: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) हर साल की तरह इस बार भी 08 मार्च को सेलिब्रेट किया जाएगा. महिलाओं के सम्मान और उनके सशक्तिकरण का संदेश देता ये खास दिन दुनियाभर में मनाया जाता है. रूस (Russia) सहित कई देशों में तो इस दिन अवकाश भी रखा जाता है. आज से लगभग 113 साल पहले 1908 में न्यूयॉर्क में हुए एक श्रम आंदोलन ने इस दिन की नींव रखी थी. हालांकि आधिकारिक तौर पर 1975 में पहली बार इसकी शुरुआत तब हुई जब संयुक्त राष्ट्र ने इसे मनाना शुरू किया था.

इन 3 रंगों का है महत्व
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) को दुनियाभर में मनाया जाता है. इस खास दिन को तीन रंगों बैंगनी, हरा और सफेद से प्रदर्शित किया जाता है. ये हर रंग दुनिया को एक खास संदेश भी देता है. बीबीसी की खबर के अनुसार ब्रिटेन की वीमेंस सोशल एंड पॉलिटिकल यूनियन (WSPU) ने साल 1908 में ये तीन रंग तय किए थे. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस अभियान के अनुसार बैंगनी रंग न्याय और गरिमा का प्रतीक है, वहीं हरा रंग उम्मीद को प्रदर्शित करता है. सफेद रंग शुद्धता का सूचक माना जाता है. इस तरह ये तीनों रंग मिलकर महिलाओं के लिए न्याय, गरिमा, उम्मीद और शुद्धता का प्रतीक हैं.

इसे भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर लाइफ में मौजूद खास महिलाओं को दें ये गिफ्ट्स

दुनियाभर में होता है सेलिब्रेट
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को दुनियाभर में सेलिब्रेट किया जाता है. हर देश में इसे मनाने का तरीका कुछ अलग होता है. इस दिन रूस समेत दुनिया के कई देश महिलाओं के सम्मान में राष्ट्रीय अवकाश रखते हैं. रूस में फूल भेंट करने का चलन है तो वहीं इटली में छुई-मुई का फूल देकर महिलाओं के प्रति सम्मान प्रकट किया जाता है. भारत में भी इस खास दिन पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. अमेरिका में राष्ट्रपति हर साल इस दिन महिलाओं की उपलब्धियों पर उन्हें सम्मानित करते हैं.

इसे भी पढ़ें: 50 की उम्र के बाद महिलाएं जरूर पिएं ये 5 खास जूस, बीमारियां रहेंगी दूर

पहली बार ऐसे हुई चर्चा
श्रम आंदोलन के बाद अमेरिकी सोशलिस्ट पार्टी द्वारा राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत की गई. इसके बाद इस दिन को अंतराराष्ट्रीय स्तर पर मनाए जाने का पहली बार विचार क्लारा जेटकिन नाम की महिला को आया था. उन्होंने कोपेनहेगन में हुई इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस ऑफ वर्किंग वीमेन में अपना ये विचार सभी के सामने रखा था. इस कांफ्रेंस में 17 देशों की 100 से ज्यादा महिला प्रतिनिधि शामिल हुईं थीं.

Tags: International Women Day, International Women's Day, Lifestyle

अगली ख़बर