भारत-बायोटेक का बड़ा ऐलान, जुलाई में आएगा कोवैक्सीन के फेज-3 का फुल ट्रायल डाटा

कोवैक्सीन को NIV और ICMR के साथ साझेदारी में हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक द्वारा विकसित किया गया है. (पीटीआई फाइल फोटो)

Anti Coronavirus Vaccine Covaxine: कोवैक्सीन को राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साथ साझेदारी में हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक द्वारा विकसित किया गया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. हैदराबाद स्थित वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस रोधी टीका कोवैक्सीन के फेज 3 ट्रायल का पूरा डाटा जुलाई महीने तक सार्वजनिक कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि एक बार जब पूरा डेटा सामने आ जाएगा तब भारत बायोटेक फुल लाइसेंस के लिए अप्लाई करेगा.


    भारत बायोटेक ने कहा, 'यह समझना बेहद जरूरी है कि तीसरे चरण के डाटा को सबसे पहले केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के पास भेजा जाएगा. इससे पहले पीयर रिव्यू जर्नल में स्टडी प्रकाशित होगी और उसके तीन माह के भीतर डाटा को सीडीएससीओ भेजा जाएगा. इसके बाद कोवैक्सीन के तीसरे चरण के सभी डाटा को जुलाई महीने में सार्वजनिक किया जाएगा.'


    स्टडी ने कहा था कोवैक्सीन से ज्यादा एंटीबॉडी बनाती है कोविशील्ड, अब भारत-बायोटेक ने उठाए सवाल


    वैक्सीन निर्माता कंपनी ने कहा कि एक बार जब कोवैक्सीन के तीसरे चरण के अध्ययन का अंतिम विश्लेषण हमारे पास उपलब्ध होगा, तब कंपनी कोवैक्सीन के फुल लाइसेंस के लिए अप्लाई करेगी.




    गौरतलब है कि राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साथ साझेदारी में हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोवैक्सीन के आपातकालीन प्रयोग को तीन जनवरी को मंजूरी मिली थी. परीक्षण के परिणामों में बाद में सामने आया कि यह टीका 78 फीसदी तक प्रभावी है.

    Published by:Rakesh Ranjan
    First published: