धोनी की आर्मी रैंक पर गंभीर का बड़ा बयान, कहा-वर्दी हासिल करने के लिए खून-पसीना बहाते हैं लोग

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने सौरव गांगुली की कप्तानी में डेब्यू किया था

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने सौरव गांगुली की कप्तानी में डेब्यू किया था

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने साथ ही कहा कि कम से कम रक्षा क्षेत्र को इन सब बातों से अलग रखना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 1, 2019, 4:58 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का सेना से लगाव किसी से छिपा नहीं है. इसे लेकर समय-समय पर गंभीर सोशल मीडिया (Social Media) पर अपनी भावनाएं जाहिर भी करते रहे हैं. कुछ साल पहले गौतम गंभीर ने सीआरपीएफ शहीदों के बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी लेने की घोषणा भी की थी. इस साल की शुरुआत में उन्होंने यहां तक कहा था कि पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terrorist Attack) के बाद अब टीम इंडिया (Team India) को आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 (ICC World Cup 2019) में पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ मुकाबले का बायकॉट कर देना चाहिए. बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने अब आर्मी (Indian Army) को लेकर अहम बयान दिया है. गंभीर ने भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को आर्मी रैंक दिए जाने पर पहली बार टिप्पणी की है. गंभीर से वर्ल्ड कप 2019 में महेंद्र सिंह धोनी द्वारा आर्मी के निशान वाले विकेटकीपिंग ग्लब्स पहनने के मुद्दे पर सवाल पूछा गया था. इसके जवाब में गंभीर ने कहा है कि आर्मी को किसी भी तरह के विज्ञापन की जरूरत नहीं है, और न ही उसे मार्केटिंग की आवश्यकता है.

cricket, cricket news, sports news, mahendra singh dhoni, gautam gambhir, dhoni army, dhoni army rank, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, स्पोर्ट्स न्यूज, बीसीसीआई, भारतीय क्रिकेट टीम, गौतम गंभीर, महेंद्र सिंह धोनी, एमएस धोनी, धोनी आर्मी, धोनी आर्मी रैंक
महेंद्र सिंह धोनी को टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक दी गई है. (फाइल फोटो)



कम से कम डिफेंस सर्विस को तो छोड़ दीजिए...
महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को लेकर पूछे गए सवाल पर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि अगर उन्हें ऐसा करना अच्छा लगता है तो इसे पहनने में कोई बुराई नहीं है. मगर इसे खबरों में नहीं लाया जाना चाहिए. मुझे लगता है कि आर्मी को किसी तरह के विज्ञापन की जरूरत नहीं है. न ही उसे मार्केटिंग की आवश्यकता है. मैं डिफेंस फोर्स में किसी को भी मानद रैंक देने के पक्ष में नहीं हूं. मैं इस मुद्दे पर बेहद मुखर हूं. वर्दी पहनने की योग्यता हासिल करने के लिए लोग खून-पसीना बहा देते हैं. यहां हर किसी के लिए मानद व्यवस्‍था है, कम से कम डिफेंस सर्विस (Defense Service) को तो इससे अलग रखना चाहिए.

बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने हालांकि महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के इंडियन आर्मी की सेवा करने के फैसले की प्रशंसा की. इंडियन टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद रैंक हासिल करने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने हाल ही में कश्मीर में दो हफ्ते की आर्मी ट्रेनिंग ली थी. इसके लिए भारत के इस दिग्गज विकेटकीपर और पूर्व कप्तान ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ब्रेक भी लिया था. इस बारे में गंभीर ने कहा कि धोनी ने कश्मीर में जाकर आर्मी की सेवा कर शानदार काम किया, इसके लिए उन्हें सलामी देता हूं. मगर मैं डिफेंस सेक्टर में मानद उपाधि दिए जाने के पूरी तरह खिलाफ हूं.

युवराज ने विराट एंड कंपनी पर साधा निशाना-टीम को चौथे नंबर के बल्लेबाज की जरूरत ही नहीं

रोहित शर्मा को टीम में खिलाने पर विराट कोहली ने दिया बड़ा बयान, सहवाग से की तुलना

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज