यहां सब्जी और फलों से किया जाता है मां का श्रृंगार

नवरात्रों में देश भर में दुर्गा पूजा की धूम है. हरिद्वार में मां मकर वाहिनी गंगा मंदिर में मां का श्रृंगार फलों और सब्जियों से किया गया. चाहे गले का हार हो मां के शरीर पर पहने जाने वाले दूसरे गहने सभी ताजे फलों और सब्जियों से बनाये गए हैं.
नवरात्रों में देश भर में दुर्गा पूजा की धूम है. हरिद्वार में मां मकर वाहिनी गंगा मंदिर में मां का श्रृंगार फलों और सब्जियों से किया गया. चाहे गले का हार हो मां के शरीर पर पहने जाने वाले दूसरे गहने सभी ताजे फलों और सब्जियों से बनाये गए हैं.

नवरात्रों में देश भर में दुर्गा पूजा की धूम है. हरिद्वार में मां मकर वाहिनी गंगा मंदिर में मां का श्रृंगार फलों और सब्जियों से किया गया. चाहे गले का हार हो मां के शरीर पर पहने जाने वाले दूसरे गहने सभी ताजे फलों और सब्जियों से बनाये गए हैं.

  • News18
  • Last Updated: October 22, 2015, 12:41 PM IST
  • Share this:
नवरात्रों में देश भर में दुर्गा पूजा की धूम है. हरिद्वार में मां मकर वाहिनी गंगा मंदिर में मां का श्रृंगार फलों और सब्जियों से किया गया. चाहे गले का हार हो मां के शरीर पर पहने जाने वाले दूसरे गहने सभी ताजे फलों और सब्जियों से बनाये गए हैं.

यही नही मंदिर को भी फलों और सब्जियों से सजाया गया है. फलों और सब्जियों से मां के श्रृंगार की यह पंरपरा दक्षिण भारत की है. यह मंदिर कांची कामकोटी के शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती के द्वारा स्थापित किया गया है. मां के गहने भिन्डी टिंङा, टमाटर, मिर्च गोभी और केले सेव जैसे फल होते हैं.

वैसे तो नवरात्रों में इस मंदिर में भक्तों की भारी भीङ उमङती हैं पर नवरात्रों से लेकर दशमी तक भक्तों की भारी भीड़ होती है. भक्तों का मानना है कि नवरात्रों में इस मंदिर में मां की पूजा करने से सभी कामनाएं पूरी हो जाती हैं. मां के इस अनोखे श्रृंगार के बाद मंदिर में रात भर विशेष पूजा चलती है. इसके बाद जिन फलों से मां का श्रृंगार किया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज