लाइव टीवी

झारखंड चुनाव: स्टार कैंपेनेर होने के बावजूद प्रचार के लिए नहीं जाएंगे सीएम नीतीश कुमार

News18 Bihar
Updated: November 20, 2019, 4:30 PM IST
झारखंड चुनाव: स्टार कैंपेनेर होने के बावजूद प्रचार के लिए नहीं जाएंगे सीएम नीतीश कुमार
बुधवार को नीतीश ने कहा कि मेरे झारखंड जाने की कोई आवश्यक्ता नहीं है

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि नीतीश कुमार (nitish kumar) झारखंड (Jharkhand) में अपनी पार्टी की मौजूदगी का एहसास जोरदार तरीके से कराना चाहते हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) झारखंड में हो रहे विधानसभा चुनाव (Jharkhand Election) में प्रचार करने नहीं जाएंगे. बुधवार को जब पटना में झारखंड चुनाव को लेकर नीतीश कुमार से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमारे झारखंड जाने की कोई आवश्यक्ता नहीं है. नीतीश कुमार जलवायु से जुड़े एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे. बिहार से अलग झारखंड में जेडीयू (JDU) का बीजेपी (BJP)के साथ कोई गठबंधन नहीं है. पार्टी यहां अकेले चुनाव लड़ रही है.

पीके की रणनीति पर चलने की कोशिश
राजनीतिक जानकारों का मानना है कि नीतीश कुमार झारखंड में अपनी पार्टी की मौजूदगी का एहसास जोरदार तरीके से कराना चाहते हैं. इसलिए अभी हाल ही में महाराष्ट्र में प्रशांत किशोर की रणनीति का लाभ पार्टी झारखंड में उठाना चाह रही है. ऐसा कहा जा रहा है कि हाल के दिनों में बीजेपी की तरफ से पार्टी को ज्यादा तवज्जो नहीं मिली है, जैसे पहले मिला करती थी.

पार्टी ने जारी की थी स्टार प्रचारकों की लिस्ट

पार्टी ने झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के सीएम नीतीश कुमार के बाद जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर का नाम शामिल है. ऐसा पहली बार है जब पार्टी के आधिकारिक लेटर हेड पर नीतीश कुमार के बाद प्रशांत किशोर का नाम स्टार प्रचारकों की लिस्ट में शामिल है.

पांच चरण में होना है चुनाव
इस लिस्ट में मुंगेर के सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह जैसे दिग्‍गज पार्टी नेताओं का नाम भी प्रशांत किशोर के बाद रखा गया है. झारखंड में 81 सदस्यीय विधानसभा के लिए 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक पांच चरणों में मतदान होगा. मतगणना 23 दिसंबर को होगी. प्रथम चरण में 13 सीटों पर 30 नवंबर को वोटिंग होगी. जेडीयू ने राज्य की सभी 81 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा की है.
Loading...

2014 में मिली थी करारी हार
2014 में भी उसने अकेले बूते पर राज्य में चुनाव लड़ा था, लेकिन उसे एक भी सीट हाथ नहीं लगी थी. साल 2014 के चुनाव राज्य में बीजेपी ने आजसू और लोक जनशक्ति पार्टी के साथ मिलकर लड़ा था और बहुमत की सरकार का गठन किया था.

ये भी पढ़ें- AK-47 में बाहुबली MLA अनंत सिंह को मिलेगी जमानत ? सुनवाई आज

ये भी पढ़ें- 100 साल की उम्र में भी कर रहे वकालत, जिरह ऐसी की विरोधियों के छूटते हैं पसीने

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 2:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...