आपकी जेब में रखे 2000 रुपये के नोट पर सरकार ने दी ये जरूरी जानकारी, यहां जानिए

दो हजार रुपये के करंसी नोट्स के बारे में सरकार ने नई जानकारी दी है.
दो हजार रुपये के करंसी नोट्स के बारे में सरकार ने नई जानकारी दी है.

2000 रुपये के नोट के बारे में वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने लोकसभा में जरूरी जानकारी दी है. उन्होंने यह भी बताया कि लॉकडाउन के दौरान करंसी नोटों की छपाई करने वाले प्रिंटिंग प्रेस बंद रहे. हालांकि, सरकारी गाइडलाइंस के आधार पर खोल दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 6:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने शनिवार को लोकसभा में जानकारी दी है कि 2000 रुपये के करंसी नोट्स की प्रिंटिंग बंद करने का कोई फैसला नहीं लिया गया है. लोकसभा में लिखित जवाब में वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Singh Thakur) ने कहा कि सरकार किसी भी मद की करंसी नोट के बारे में फैसला लेने से पहले आरबीआई (Reserve Bank of India) से राय लेती है. इससे आम लोगों के लिए पर्याप्त मदों में करंसी नोट उपलब्ध होती है.

वित्त वर्ष 2019-20 और 2020-21 में प्रेस के पास 2000 रुपये के नोट भेजने के लिए कोई मांगपत्र नहीं भेजा गया था. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सरकार 2000 रुपये के नोट की प्रींटिंग बंद करने पर विचार कर रही है.

27 लाख से ज्यादा करंसी नोट्स सर्कुलेशन में
वित्त राज्य मंत्री ने यह भी जानकारी दी कि 31 मार्च 2020 तक 2000 रुपये के 27,398 करंसी नोट्स सर्कुलेशन (Total 2000 currency in Circulation) में हैं. 31 मार्च 2019 तक यह आंकड़ा 32,910 करंसी नोट्स का था. उन्होंने आगे बताया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन की वजह से कुछ समय के लिए नोटों की छपाई बंद रही थी. हालांकि, इन प्रिंटिंग प्रेस में चरणबद्ध तरीके से काम शुरू कर दिया गया है.
यह भी पढ़ें: Air India ने अपने कर्मचारियों के EPF खाते में जमा नहीं की PF की रकम!



लॉकडाउन प्रभावित रही नोटों की छपाई
बता दें कि भारतीय रिज़र्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड (BRBNMPL) में 23 मार्च 2020 से लेकर 3 मई 2020 तक नोटों की छपाई बंद थी. 4 मई से यहां पर काम शुरू हो गया था. ठाकुर ने यह भी बताया कि सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL)में भी कुछ समय के लिए नोटों की छपाई बाधित रही. SPMCIL के नासिक और देवास स्थित प्रेस लॉकडाउन के दौरान बंद थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज