• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • रामायण-महाभारत पर आई BARC की रिपोर्ट, टीवी TRP के सारे रिकॉर्ड टूटे

रामायण-महाभारत पर आई BARC की रिपोर्ट, टीवी TRP के सारे रिकॉर्ड टूटे

रामायण का एक सीन.

रामायण का एक सीन.

बार्क (BARC) ने कहा है 12 अप्रैल को समाप्त हुए सप्ताह तक टीवी देखने का आंकड़ा कोविड-19 से पहले की तुलना में 38 प्रतिशत बढ़ा. इसमें रामायण-महाभारत (Ramayan-Mahabharat) ने अहम भूमिका निभाई.

  • Share this:
    मुंबई. रामायण और महाभारत (Ramayan and Mahabharat)  के प्रसारण से टीवी देखने वालों की संख्या काफी बढ़ गई है. बार्क (BARC) के मुख्य कार्यकारी सुनील लुल्ला ने संकेत दिया कि इसकी वजह राष्ट्रीय प्रसारणकर्ता दूरदर्शन के दर्शकों की संख्या में इजाफा है. बंद के दौरान दूरदर्शन ने रामायण और महाभारत का प्रसारण दोबारा शुरू किया है जिसकी वजह से उसके दर्शकों की संख्या बढ़ी है. उन्होंने कहा कि सामान्य मनोरंजक चैनलों के दर्शकों की संख्या दूरदर्शन की वजह से बढ़ी है.

    परिषद ने कहा कि 12 अप्रैल को समाप्त हुए सप्ताह तक टीवी देखने का आंकड़ा कोविड-19 से पहले की तुलना में 38 प्रतिशत बढ़ा. यह एक बड़ा आंकड़ा है, क्योंकि लॉकडाउन में ही आम दिनों की तुलना में काफी दर्शकों का इंजाफा हो गया था. हालांकि, इसका एक दूसरा पहलू भी है. दर्शकों की संख्या जहां बढ़ी है वहीं इस दौरान विज्ञापनों में गिरावट आई है. इस दौरान विज्ञापनों के समय में कुल 26 प्रतिशत की कमी आई.

    हालांकि इस दौरान रामायण में कुंभकरण और लक्ष्मण के प्रसंगों और महाभारत के किरदारों को लेकर जमकर सोशल मीडिया बज बना हुआ है. हर एपिसोड के बारे में लोग बातचीत कर रहे हैं. यहां तक कि दर्शकों की मांग पर दूरदर्शन को रामायण के शोज तक रिपीट करने पड़ रहे हैं.

    पीएम मोदी के संबोधन को देखने लिए उमड़े रिकॉर्ड दर्शक
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के लॉकडाउन-दो (Lockdown 2.0) को लेकर टीवी पर संबोधन को रिकॉर्ड 20.3 करोड़ लोगों ने देखा. प्रसारण दर्शक अनुसंधान परिषद (बार्क) ने बृहस्पतिवार को कहा कि प्रधानमंत्री के संबोधन ने उनके ही पिछले रिकॉर्ड को तोड़ा है. अपने इस संबोधन में मोदी ने राष्ट्रव्यापी बंद को 19 दिन बढ़ाने की घोषणा की. बाजार अनुसंधान एजेंसी एसी नील्सन ने कहा कि रिकॉर्ड संख्या लोगों ने संपर्क का पता लगाने के आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड किया है लेकिन इनमें से सिर्फ 10 प्रतिशत ही इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.

    यह भी पढ़ेंः भगवान कृष्ण का रोल करने वाले इस एक्टर को हुए थे साक्षात दर्शन? हो गए बेहोश!

    प्रधानमंत्री कोरोना वायरस महामारी पर देश की जनता को चार बार संबोधित कर चुक हैं. पहली बार उन्होंने‘जनता कर्फ्यू का आह्वान किया. उसके बाद लॉकडाउन की घोषणा और तीसरी बार घरों में मोमबत्तियां और दीये जलाने का आह्वान किया. इससे पहले मोदी ने जब पहली बार 21 दिन के बंद की घोषणा की तो उनके इस संबोधन को रिकॉर्ड 19.3 करोड़ लोगों ने देखा. बार्क के मुख्य कार्यकारी सुनील लुल्ला ने संवाददाताओं से कहा कि प्रधानमंत्री ने मंगलवार को राष्ट्रव्यापी बंद को 19 दिन बढ़ाने की घोषणा की. उनके इस 25 मिनट के संबोधन का प्रसारण 199 प्रसारण कंपनियों ने किया. सभी दर्शकों की संख्या के आधार पर गणना की जाए तो इस प्रसारण को चार अरब मिनट देखा गया. यह भी एक रिकॉर्ड है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज