झारखंड BJP में इस्तीफों का दौर जारी, अब प्रदेश अध्यक्ष गिलुवा ने छोड़ी कुर्सी

झारखंड में बीजेपी के खराब प्रदर्शन के बाद झारखंड भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.
झारखंड में बीजेपी के खराब प्रदर्शन के बाद झारखंड भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

हाल ही में आये चुनावी नतीजों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद झारखंड के भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 26, 2019, 12:54 AM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 (Jharkhand Assembly Election 2019) के परिणामों में बीजेपी को मिली हार के बाद से झारखंड बीजेपी (BJP) में इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है. अब झारखंड के बीजेपी के अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

उन्होंने अपना इस्तीफा राज्य में भाजपा के कमजोर प्रदर्शन के चलते दिया है. इसके पहले झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष डॉ दिनेश उरांव ने मंगलवार को अपना इस्तीफा दे दिया था. झारखंड में चुनाव परिणाम आने के बाद सबसे पहले सूबे के मुख्यमंत्री रघुवरदास ने सबसे पहले इस्तीफा दिया था.

रघुवर दास जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में थे. उन्हें बीजेपी से अलग हुए सरयू राय ने निर्दलीय चुनाव लड़कर 17 हजार के करीब वोटों से हराया था. विधानसभाध्यक्ष दिनेश उरांव सिसई विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे थे, जो 38,440 मतों हार गए थे.



उन्हें झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिग्गा सुसारण होरो ने हराया था. इस सीट पर होरो को 93,591 मत प्राप्त हुए थे वहीं दिनेश उरांव को सिर्फ 55,151 मत प्राप्त हुए थे. दिनेश उरांव 6 जनवरी साल 2014 को चौथी विधानसभा के अध्यक्ष निर्वाचित हुए थे.



बता दें कि सोमवार को घोषित हुए झारखंड विधानसभा चुनाव के नतीजों में झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राजद की अगुआई वाले गठबंधन को 47 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत मिला था. जेएमएम को 30, कांग्रेस को 16 और आरजेडी को एक सीट हासिल हुई थी. वहीं बीजेपी को 25 सीटों पर ही संतोश करना पड़ा था. वहीं जेवीएम को 3 और आजसू को दो सीटें मिली थीं. इनके अलावा सीपीआईएमएल और एनसीपी के खाते में एक-एक सीट आई थी.

झारखंड में इस तरह के चुनाव परिणाम खासकर बीजेपी की हार वाले परिणाम के बाद से प्रदेश के बीजेपी के बड़े नेता इस्तीफा दे रहे हैं. राज्य का हर बड़ा नेता हार की जिम्मेदारी लेता दिख रहा है.

ये भी पढ़ें- हेमंत सोरेन ने सोनिया गांधी और राहुल को दिया शपथ ग्रहण में शामिल होने का न्योता
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज