लाइव टीवी

मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात पर साधा निशाना

भाषा
Updated: October 17, 2019, 11:27 PM IST
मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात पर साधा निशाना
पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात पर निशाना साधा.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने गुरुवार को कहा कि आर्थिक सुस्ती और सरकार के उदासीन रवैये की वजह से भारतीयों के भविष्य और आकांक्षाओं पर असर पड़ रहा है.

  • Share this:
मुंबई. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) के साथ सिर्फ "सतही मुद्दों" पर चर्चा की, लेकिन वह सीमा विवाद और कश्मीर (Kashmir) के जैसे "तनावपूर्ण बिंदुओं" से बचकर निकल गए.

पूर्व प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) से पहले यहां एक संवाददाता सम्मेलन में मोदी-शी के बीच हुई दूसरी "अनौपचारिक शिखर वार्ता" को खारिज करते हुए इसे "जुमलेवाली बातचीत" करार दिया.

व्यापार और निवेश को लेकर हुई थी बातचीत
मोदी और शी ने पिछले साल वुहान (Wuhan) में हुई पहली अनौपचारिक शिखर वार्ता की तर्ज पर पिछले सप्ताह दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता की थी. बताया गया है कि इस दौरान दोनों नेताओं के बीच व्यापार और निवेश पर बातचीत हुई.

मनमोहन सिंह ने कहा, "इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि सीमा और कश्मीर के बारे में चर्चा हुई या नहीं. ऐसा लगता है कि इस बारे में कोई बात नहीं हुई. तनावपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा नहीं हुई, सिर्फ सतही मुद्दों पर चर्चा की गई." उन्होंने कहा, "ये तो जुमले वाली बातचीत हुई, इसमें कोई ताप नहीं है."

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, "चीन के लोग बड़े चतुर होते हैं और वे जानते हैं कि भारत को किस तरह फिसलाया जा सकता है. भारतीय लोग भी समझते हैं कि चीन के साथ हमारी समस्याओं का कोई समाधान नहीं निकल रहा है."

जांच एजेंसियों के इस्तेमाल को लेकर किया आगाह
Loading...

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ के लिये जांच एजेंसियों का इस्तेमाल किये जाने के खिलाफ गुरुवार को नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) को आगाह किया.  सिंह ने कहा कि मोदी सरकार के तहत प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) को कहीं अधिक शक्तियां मिल गई हैं और इन शक्तियों का इस्तेमाल विवेकपूर्ण तरीके से किया जाना चाहिए.

पूर्व प्रधानमंत्री की टिप्पणी ऐसे समय आई है, जब उनके पूर्व कैबिनेट सहयोगी एवं कांग्रेस नेता पी चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी के बाद जेल में हैं.

ये भी पढ़ें-
अगले 24 घंटों में भरे जाएंगे दिल्ली की सड़कों के 232 गड्ढे: सीएम केजरीवाल

राजनाथ का राहुल से सवाल, राफेल पर ऊं नहीं लिखता तो तो क्या लिखता?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 11:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...