Home /News /uttarakhand /

DM मंगेश घिल्डियाल की गाड़ी रोकने वाले कांस्टेबल को मिलेगा सम्मान, जानिए वजह

DM मंगेश घिल्डियाल की गाड़ी रोकने वाले कांस्टेबल को मिलेगा सम्मान, जानिए वजह

रूद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल.

रूद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल.

इस दौरान जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कांस्टेबल से बार- बार आग्रह किया और धन का प्रलोभन भी दिया. इसके बावजूद भी कांस्टेबल ने अधिकारी के वाहन को आगे नहीं जाने दिया.

    रूद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल पूरे समर्पण के साथ अपनी ड्यूटी करने वाले उस कांस्टेबल को सम्मानित करेंगे जिसने हाल में उनके निजी वाहन को नियमों का हवाला देते हुए गौरीकुंड से आगे बढ़ने से रोक दिया था. दरअसल, घिल्डियाल केदारनाथ के रास्ते में पड़ने वाले मुख्य पड़ावों के इंतजामों का जायजा लेने के लिये गोपनीय रूप से भ्रमण पर थे. इसी दौरान रास्ते में उनका सामना कांस्टेबल से हुए था. कांस्टेबल ने उनकी गाड़ी को गौरीकुंड से आगे बढ़ने से रोक दिया था.

    कांस्टेबल को धन का प्रलोभन भी दिया

    इस दौरान जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कांस्टेबल से बार- बार आग्रह किया और धन का प्रलोभन भी दिया. इसके बावजूद भी कांस्टेबल ने अधिकारी के वाहन को आगे नहीं जाने दिया और उन्हें नियमों का उल्लंघन कर आगे जाने का प्रयास करने की दशा में जेल में डालने की भी चेतावनी दी थी. यह घटना पिछले रविवार की रात  की है, जब घिल्डियाल हिमालयी धाम में व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए गोपनीय रूप से एक पर्यटक के भेष में गए थे.

    रात 12 बजे सोनप्रयाग पुलिस बैरियर पर पहुंचे थे डीएम

    अधिकारी अपने निजी वाहन से मध्यरात्रि करीब 12 बजे सोनप्रयाग पुलिस बैरियर पर पहुंचे लेकिन उस समय ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबल मोहन सिंह ने उनके वाहन को यह कहते हुए रोक दिया कि इस प्वाइंट के आगे निजी वाहनों को ले जाने पर रोक है. कांस्टेबल का ड्यूटी के प्रति समर्पण का इम्तहान लेने के लिए टोपी और प्रदूषण रोधी मास्क लगाए घिल्डियाल ने उससे बार-बार जाने देने का आग्रह किया. ऐसे में आग्रह नहीं मानने पर जिलाधिकारी उसे 200 रुपए का 'सुविधा शुल्क' देने का भी प्रलोभन दिया लेकिन वह अपने कर्तव्य से नहीं डिगा.

    श्रद्धालुओं के बड़ी संख्या में आने पर कर्मचारियों पर बहुत रहता है दबाव 

    कांस्टेबल ने जिलाधिकारी को तभी आगे जाने दिया जब उन्होंने अपना निजी वाहन सोनप्रयाग में ही छोड़ दिया. वहीं, घिल्डियाल ने कहा कि श्रद्धालुओं के बड़ी संख्या में आने के कारण कर्मचारियों पर बहुत दबाव रहता है लेकिन ऐसे समय में भी वह कांस्टेबल नियमों पर अड़ा रहा. ऐसा करके उसने अन्य कर्मचारियों के लिए भी एक उदाहरण प्रस्तुत किया है. मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि वह व्यक्तिगत तौर पर उस कांस्टेबल से मिलेंगे और उसे सम्मानित करेंगे. कांस्टेबल के लिए नकद ईनाम भेज दिया गया है जबकि उसे प्रशस्ति पत्र एक समारोह के दौरान प्रदान किया जायेगा.

    ये भी पढ़ें- 

    RJD विधायक के पुत्र पर कसा पुलिस का शिकंजा, होटल पर छापेमारी

    पहले अपहरण फिर निकाह उसके बाद रेप का वीडियो किया वायरल

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

     

    Tags: Honesty, Rudraprayag news, Trivendra Singh Rawat, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर