लाइव टीवी

JNU से पढ़े हैं अमेरिका में भारत के नए राजदूत तरनजीत सिंह संधू

News18Hindi
Updated: January 28, 2020, 5:16 PM IST
JNU से पढ़े हैं अमेरिका में भारत के नए राजदूत तरनजीत सिंह संधू
तरनजीत सिंह संधू को अमेरिका में काम करने का लंबा अनुभव है.

सैंट स्टीफेन से ग्रेजुएशन करने वाले तरनजीत सिंह संधू (Taranjit Singh Sandhu) ने JNU से इंटरनेशन रिलेशंस में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2020, 5:16 PM IST
  • Share this:
भारत के सीनियर डिप्लोमैट तरनजीत सिंह संधू (Taranjit Singh Sandhu)  को अमेरिका में भारतीय राजदूत (India's ambassador to US) नियुक्त किया गया है. इसकी जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी है. संधू 1988 बैच के भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी हैं और वर्तमान में श्रीलंका में हाईकमिश्नर के पद पर तैनात हैं. उनकी नियुक्ति हर्षवर्धन श्रृंगला की जगह पर हुई है. हर्षवर्धन अब भारत के अगले विदेश सचिव होंगे.

1988 में भारतीय विदेश सेवा में चयनित हुए तरनजीत सिंह संधू ने यूक्रेन में भारतीय दूतावास की शुरुआत की थी. वो साल 2011 से 2013 तक जर्मनी में कॉन्स्यूलेट जनरल भी रह चुके हैं.

अमेरिका काम का लंबा अनुभव
ऐसा नहीं है कि संधू अमेरिका में भारत के लिए पहली बार काम करेंगे. इससे पहले वो साल 2013 से 2017 तक वाशिंगटन डीसी में डिप्टी चीफ ऑफ मिशन के तौर पर काम कर चुके हैं. इससे पहले भी वो साल 1997 से लेकर 2000 तक अमेरिका में भारतीय दूतावास में सचिव के पद पर काम कर चुके हैं. इसके अलावा वो 2005 से 2009 तक संयुक्त राष्ट्र के लिए न्यूयॉर्क में भी काम कर चुके हैं.

अमेरिका के वाशिंगटन डीसी स्थित भारतीय दूतावास की तस्वीर.


अमेरिका के अनुभव की वजह से बने पहली पसंद
संधू के अमेरिका में लंबे समय तक काम करने की वजह से ही माना जा रहा है कि सरकार ने उन्हें इस पद के लिए चुना है. अमेरिकी संसद में कई सांसदों के साथ उनके बेहतर ताल्लुक हैं. जब 1998 में परमाणु परीक्षण के बाद अमेरिका ने भारत पर आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए थे तब इन प्रतिबंधों को हटवाने में संधू ने महत्वपूर्ण रोल अदा किया था. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक-संधू उस टीम का हिस्सा थे जो भारत पर से प्रतिबंध हटाए जाने के लिए अमेरिका को समझाने की कोशिश कर रहे थे.
JNU fee Hike case, Delhi High court
तरनजीत सिंह ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से इंटरनेशल रिलेशंस की पढ़ाई की है.


जेएनयू के रहे हैं छात्र
तरनजीत सिंह ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित कॉलेज सैंट स्टीफेंस से ग्रेजुएशन किया है. इसके बाद उन्होंने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawahar Lal Nehru University) से इंटरनेशनल रिलेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की. तरनजीत सिंह की पत्नी भी भारतीय विदेश सेवा में ही हैं. वो इस समय इटली में भारत की राजदूत हैं.

ये भी पढ़ें:
#HumanStory: 'अब्बू यहीं जन्मे, औलादें यहीं पलीं, अब बुढ़ापे में अपना मुल्क छोड़ कहां जाऊं!'

#HumanStory: 70 की उम्र में जंगल में लकड़ियां काटा करती, आज इटली में सजी है इनकी पेंटिंग

#HumanStory: वो शख्स जो 'ऑर्डर' पर लिखता है इज़हार-ए-मोहब्बत के ख़त

#HumanStory: क्या होता है पाकिस्तानी जेल में हिंदुस्तानी के साथ, पढ़ें, वहां से लौटे जासूस को

#HumanStory: भाड़े पर रोनेवाली की दास्तां- दिनभर रोने के मिलते 50 रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 5:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर