Rajasthan: सियासी संकट के बीच सीएम गहलोत आज फिर लेंगे विधायक दल की बैठक, बनायेंगे रणनीति
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: सियासी संकट के बीच सीएम गहलोत आज फिर लेंगे विधायक दल की बैठक, बनायेंगे रणनीति
प्रदेश में करीब 20 दिनों से सियासी संकट छाया हुआ है. कांग्रेस सरकार और संगठन सीएम अशोक गहलोत तथा पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट खेमों में बंटा हुआ है.

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस विधायक दल गुरुवार को बैठक कर अपनी आगामी रणनीति बनायेगा. विधायक दल की यह बैठक होटल फेयरमोंट में होगी. 15वीं विधानसभा का पांचवां सत्र 14 अगस्‍त से शुरू होगा.

  • Share this:
जयपुर. राज्य सरकार और राजभवन के बीच चल रहा गतिरोध टूट गया है. राज्यपाल ने आगामी 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र (Assembly session) बुलाने की अनुमति दे दी है. उसके बाद अब कांग्रेस विधायक दल (Congress Legislature Party) गुरुवार को बैठक कर अपनी आगामी रणनीति बनायेगा. विधायक दल की यह बैठक गुरुवार सुबह 11 बजे होटल फेयरमोंट में होगी. 15वीं विधानसभा का पांचवां सत्र 14 अगस्‍त से शुरू होगा.

कांग्रेस विधायक दल की यह बैठक सीएम अशोक गहलोत लेंगे. बैठक में सरकार पर आये सियासी संकट से निपटने और विधानसभा-सत्र की तैयारियों के लिए रणनीति बनाई जाएगी. बैठक में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे और पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला भी मौजदू रहेंगे.

Rajasthan Crisis: सियासी संग्राम के इस खेल में छिपे हैं गहरे राज, पढ़ें इनसाइड स्टोरी



राजभवन और सरकार के बीच टकराव खत्म
बीते करीब एक सप्ताह से सरकार और राजभवन के बीच विधानसभा-सत्र बुलाने को लेकर टकराव चल रहा था. सरकार की ओर से विधानसभा-सत्र बुलाने की फाइल को बुधवार को राज्यपाल कलराज मिश्र ने तीसरी बार वापस लौटा दिया था. उसके बाद सीएम अशोक गहलोत ने राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात की थी. इससे सरकार और राजभवन में चल रहा टकराव खत्म हो गया. इस मुलाकात के बाद सरकार ने विधानसभा का सत्र बुलाने के लिए चौथी बार कैबिनेट का प्रस्ताव राज्यपाल को भेजा था, जिसे राज्यपाल ने मंजूर कर लिया था.

Rajasthan: राजभवन ने तीसरी बार लौटाई विधानसभा सत्र बुलाने की फाइल, राज्यपाल से मिलने पहुंचे गहलोत

करीब 20 दिनों से चल रहा सियासी संकट
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में करीब 20 दिनों से सियासी संकट छाया हुआ है. कांग्रेस सरकार और संगठन सीएम अशोक गहलोत तथा पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट खेमों में बंटा हुआ है. गहलोत खेमे के विधायक और मंत्री जयपुर में एक होटल में बाड़ाबंदी में बंद हैं, वहीं पायलट गुट दिल्ली में एक होटल में बंद है. दोनों तरफ से सत्ता को लेकर तलवारें खिंची हुई हैं. उसके बाद पूरा मामला हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट होते हुए राजभवन पर आकर टिक गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading