लाइव टीवी

स्वास्थ्य सेवाओं का हाल: 5 लाख आबादी वाले ऊना अस्पताल में नहीं हड्डी रोग विशेषज्ञ

News18 Himachal Pradesh
Updated: November 6, 2019, 5:03 PM IST
स्वास्थ्य सेवाओं का हाल: 5 लाख आबादी वाले ऊना अस्पताल में नहीं हड्डी रोग विशेषज्ञ
ऊना में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल.

सीएमओ ऊना डॉ. रमन कुमार ने भी माना कि हड्डी रोग विशेषज्ञ न होने के कारण लोगों के साथ-साथ हादसों में घायलों का इलाज नहीं हो पा रहा है.

  • Share this:
ऊना. हिमाचल के ऊना (Una) जिला में पिछले 10 माह से एक भी हड्डी रोग विशेषज्ञ नहीं है. इस कारण हड्डी की बीमारियों (Illness) से जूझ रहे लोगों और हादसों का शिकार घायलों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सरकार की अनदेखी के चलते लोगों को या तो अपनी जेबें ढीली कर निजी अस्पतालों का रूख करना पड़ रहा है या फिर पीजीआई चंडीगढ़ (PGI Chandigarh) और टांडा अस्पताल कांगड़ा (Tanda Medical college) जाना पड़ रहा है. हड्डी रोग विशेषज्ञ के ना होने से दिव्यांगता के प्रमाण पत्र बनवाने में भी लोगों को दिक्कत पेश आ रही है.

स्वास्थ्य विभाग की ओर से क्षेत्रीय अस्पताल में दो बार डाक्टरों का तबादला किया गया. इसके बाद एक भी डाक्टर ने ऊना अस्पताल ज्वाइन नहीं किया है. स्थानीय लोग जल्द ही हड्डी रोग विशेषज्ञ की तैनाती की मांग उठा रहे है, वहीँ, सीएमओ ऊना लगातार उच्चाधिकारियों से मामले उठाने का दावा कर रहे है.

ओपीडी पर ताला
पिछले करीब 10 महीनों से क्षेत्रीय अस्पताल ऊना (Una) में हड्डी रोग विशेषज्ञ न होने से ओपीडी पर ताला लटका हुआ है. क्षेत्रीय अस्पताल के हड्डी रोग विभाग में रोजाना दर्जनों मरीज आते हैं, जिनमें से किसी की की हड्डी टूटी होती है तो किसी का हाथ और पैर दर्द कर रहा होता है. दुर्घटना वाले मरीज भी राम भरोसे ही रहते हैं. दुर्घटना में किसी कि हड्डी टूटी हो तो पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया जाता है. क्षेत्रीय अस्पताल में दिव्यांगता सर्टिफिकेट्स बनवाने के लिए भी लोगों को खासी दिक्कतें पेश आ रही है.

नियुक्ति हुई थी लेकिन नहीं आया डॉक्टर
क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में कुछ माह पहले हड्डी रोग विशेषज्ञ की नियुक्ति के आदेश जारी हुए थे, लेकिन इसके बावजूद चिकित्सक की तैनाती सुनिश्चित नहीं हो पाई है. संजय शर्मा और निशांत अग्निहोत्री, स्थानीय वासी ने कहा कि हड्डी रोग विशेषज्ञ न होने से खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. सरकार को जल्द से जल्द ऊना में हड्डी रोग विशेषज्ञ को तैनात करना चाहिए.

यह बोले सीएम
Loading...

सीएमओ ऊना (CMO Una) डॉ. रमन कुमार ने भी माना कि हड्डी रोग विशेषज्ञ न होने के कारण लोगों के साथ-साथ हादसों में घायलों का इलाज नहीं हो पा रहा है. सीएमओ ऊना की मानें तो हड्डी रोग विशेषज्ञ की कमी के चलते दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनाने में भी परेशानी है. उन्होंने बताया कि दो बार हड्डी रोग विशेषज्ञ की तैनाती के आदेश हुए थे, लेकिन दोनों ही बार डॉक्टर ने ज्वाइन नहीं किया.

ये भी पढ़ें: शिमला में 700 मीटर गहरी खाई में गिरी कार, 3 लोगों की मौत, 2 घायल

VIDEO: दिहाड़ी पर बुलाए 4 लोग, फिर घायल महिला को पालकी से रोड तक पहुंचाया

हिमाचल: MLA-मंत्रियों का यात्रा भत्ता 60 फीसदी बढ़ा, गवर्नर की बिल को मंजूरी

एक करोड़ रुपए से भी ज्यादा की चरस जब्त, 4 नेपाली समेत 10 गिरफ्तार

‘नवाब साहब’ का वायरल VIDEO: बोले-सराज के रोड चकाचक, नाचन के बदहाल

स्वास्थ्य सेवाओं का हाल: 5 लाख आबादी वाले ऊना अस्पताल में नहीं हड्डी विशेषज्ञ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 4:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...